तनहा हो के भी मुस्कुराना इश्क़ है
जज्बात को सबसे छुपाना इश्क है
जब दिल को न हो करार कही
रात को बार बार जाग जाना इश्क़ है
********************************************
********************************************
दुरी की परवाह न कीजिये
जब दिल चाहे हमें बुल लीजिये
हम ा जेएंगे एक पल में आपके पास
बस अपने आखों को पलके झुका लीजिये
********************************************
********************************************
अपने इस छोटे से दिल में अरमान कोई रखना
दुनिया की इस भीड़ में पहचान कोई रखना
अचे नहीं लगत्ती है आप पर कभी उदासी
अपने होठों पर हमेशा मुस्कान वही रखना

********************************************
********************************************
अपने होठों पे तेरा नाम सजाना चाहता हु
हर पल तुझमें खो जाना चाहता हु
जो आये कभी आँसू मेरे इन आँखों में
तेरे ही दामन में हर बूंद गिरन चाहता हु
न हो कभी अँधेरा अपनी इश्क़ के घर में
तेरी चाहता से ऐसा दिया जलना चाहता हूँ

********************************************

********************************************
मेरे दिल की हर धड़कन तेरे नाम है
तेरे होठों की मुस्करात मेरी शाम है
कैसे कह दू की है नहीं मुझे मोहबात
तुझे हर पल चाहना ही तो मेरा काम है

********************************************
********************************************
तेरी हर एक अदा चहत सी लगती है
तेरी मुस्कराहट इश्क़ सी लगती है
पहले न था कभी मुझे एहसास
तू साथ हो तो जिंदगी में रौनक सी लगती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name *
Email *
Website