Hindi Stories on Heera Aur Kaanch Ki Parakh Ki Kahaani

हीरा और कांच की परख एक राजा का दरबार लगा हुआ था, क्योंकि सर्दी का दिन था इसलिये राजा का दरवार खुले मे लगा हुआ था. पूरी आम सभा सुबह की धूप मे बैठी थी .. महाराज के सिंहासन के सामने… एक शाही मेज थी… और उस पर कुछ...
Continue reading »