Dard Shayari, Tadapte hue mujhe koi nhi dekh

Tadapte hue mujhe koi nhi dekh paata Khuda ne meri taklifo ko dekha hai Raute hai aksar hum tanhai me Mehfil me logo ne aksar hme haste dekha hai तड़पते हुए मुझे कोई नही देख पाता खुदा ने मेरी तकलीफों को देखा है रोते है...
Continue reading »

Sad Shayari, Dard Kitne Hai Yeh

दर्द कितने हैं यह बता नहीं सकता, ज़ख़्म हैं कितने यह भी दिखा नहीं सकता, आँखों से समझ सको तो समझ लो, आँसू गिरे हैं कितने यह गिना नहीं सकता.
Continue reading »

Sad Shayari, Jindagi Dene Vale Marta

जिंदगी देने वाले, मरता छोड़ गये, अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये, जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की, वो जो साथ चलने वाले रास्ता मोड़ गये।
Continue reading »