Aaina Shayari, Jindagi aaine jaisa hai

Jindagi aaine jaisa hai Yha har kuch chupana parta hai Lakh gum ho jindagi me Mehfil me muskurana parta hai जिंदगी आईने जैसा है यह हर कुछ छुपाना पडता है लाख गम हो जिंदगी में महफ़िल में मुस्कुराना पडता है  
Continue reading »